Short Note on Urvashi

Short Note on Urvashi 1961 ई. में प्रकाशित इस काव्य-नाटक में ‘दिनकर’ ने उर्वशी और पुरुरवा के प्राचीन आख्यान को एक नये अर्थ से जोड़ना चाहा है | इस कृति…

Continue Reading Short Note on Urvashi